fbpx

नीरज चोपड़ा: किसान के बेटे ने लिख दिया सुनहरा इतिहास

 नीरज चोपड़ा: किसान के बेटे ने लिख दिया सुनहरा इतिहास

नई दिल्ली: भारत हर एथलीट पिछले कई सालों में यही सपना देखता था कि आखिर कोई मेडल उन्हें ओलंपिक में मिल जाए. मिल्खा सिंह और पीटी उषा मुकाम तक पहुंचते-पहुंचते रह गए. लेकिन, आखिरकार किसान के बेटे नीरज चोपड़ा ने करोड़ों की उम्मीदों को पूरा कर दिया. मेडल ही नहीं दिलाया बल्कि अपनी मेहनत से उसका रंग भी सुनहरा कर दिया.

नीरज के पिता पेशे से एक किसान हैं और गोल्ड जीतने के बाद भावुक होकर उन्होंने इतना ही कहा कि उनका बेटा योद्धा है और ओलंपिक में भी युद्ध की तरह ही लड़ा है. गौरतलब है कि फाइनल मुकाबले में जब नीरज ने अपना भाला फेंका, उनके आसपास कोई नहीं था जो उनसे मुकाबला कर सके.

Related post