fbpx

एजेंसियों का दावा ट्वीट से अशांति फैलाना चाह रहे आतंकी, सरकार ने जारी किया फरमान

 एजेंसियों का दावा ट्वीट से अशांति फैलाना चाह रहे आतंकी, सरकार ने जारी किया फरमान

नई दिल्ली: केंद्र सरकार का दावा है कि किसान आंदोलन की आड़ में विदेशों से लगातार उल्टे-सीधे ट्वीट किए जा रहे हैं. इसमें सैकड़ों ट्वीट पाकिस्तान और खालिस्तान समर्थक हैंडल से किए जा रहे हैं. सरकार का कहना है कि उनकी पूरी मंशा है कि भारत में अशांति फैले और दंगा हो.

इलेक्ट्रानिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ऐसे एक हजार 178 अकाउंट्स की सूची तैयार की है. साथ ही ट्विवर को वह सूची सौंप कर ये हैंडल बंद कर देने का निर्देश दिया है. सरकार का कहना है कि बहुत ही शातिर ढंग से इन ट्वीट को फैलाया जा रहा है.

इससे पहले भी सरकार ने ऐसे ट्विवर हैंडल की लिस्ट भेजी थी लेकिन अभी तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की गई है. ऐसे ट्वीट्स के जरिए संवेदनशील हैशटैग चलाए जा रहे हैं. पिछले दिनों कुछ विदेश सेलीब्रेटीज ने भी विवादास्पद ट्वीट लिखे थे. जिस पर काफी हंगामा भी हुआ था.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों को लेकर किसान यूनियन धरने पर हैं. दिल्ली के सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बार्डर पर किसान पिछले करीब 70 दिनों से धरना दे रहे हैं. उनकी मांग है कि ये तीनों कानून रद्द किए जाएं. हालांकि, केंद्र सरकार कह रही है कि कानून वापस नहीं होंगे, भले ही कुछ संसोधन हो जाए.

Related post