fbpx

सरकार का बड़ा फैसला, अगर पराली जलाई तो किसानों से छिन जाएगी बड़ी सुविधा

 सरकार का बड़ा फैसला, अगर पराली जलाई तो किसानों से छिन जाएगी बड़ी सुविधा

नई दिल्ली/पटना: देश की राजधानी और आसपास के क्षेत्र में प्रदूषण ने पूरे वातावरण को जहरीला कर दिया है. प्रदूषण के खतरनाक स्तर को देखते हुए दिवाली पर इस बार पटाखे भी बैन कर दिए गए हैं. लेकिन, पराली का जलना बदस्तूर जारी है. किसानों के पास भी कोई विकल्प नहीं सूझ रहा है और समस्या बढ़ती ही जा रही है.

सरकारी नियम ने पराली जलाने वाले किसनों को होश उड़ा दिए

इस बीच एक सरकारी नियम ने पराली जलाने वाले किसनों को होश उड़ा दिए हैं. हालांकि, यह नियम हरियाणा या पंजाब में नहीं बल्कि बिहार में बना है. जानकारी के मुताबिक बिहारी की राजधानी पटना में स्थित गांव डुमरांव में कृषि विभाग ने नियम जारी किया है. इसके तहत पराली जलाने वाले किसानों को तीन साल तक सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिलेगा.

किसानों के ऑनलाइन निबंधन को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा

इस नए नियम के तहत ऐसे किसानों के ऑनलाइन निबंधन को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा. पंचायत स्तर पर यह सूची तैयार की जाएगी. इसके लिए पराली जलाने की फोटो आदि को भी अपलोड करना होगा साथ कुछ अन्य जानकारियां भी लिखनी होंगी. इस नियम के लागू होने के बाद इलाके में चर्चा गरम है.

कृषि विभाग की ओर से किसानों को कई तरह की सुविधाएं दी जाती हैं

गौरतलब है कि कृषि विभाग की ओर से किसानों को कई तरह की सुविधाएं दी जाती हैं इनमें अनुदान भी शामिल है. किसानों को डीजल, खाद, बीज, कृषि यांत्रिकी आदि में अनुदान को मिलता ही है इसके साथ ही असमय वर्षा, आंधी या ओलावृष्टि के कारण प्रभावित हुई फसलों पर भी अनुदान का प्रावधान है.

Related post